Ghar se Bahar Nikalne aur Andar dakhil hone ki Dua

Ghar Se Nikalne Ki Dua | घर से निकलने की दुआ हिंदी में

Ghar se bahar nikalne aur andar dakhil hone ki dua in Hindi
Ghar se bahar nikalne aur andar dakhil hone ki dua in Hindi

Ghar Se Bahar Jaane Aur Aane Ki Dua

हम हर दिन किसी न किसी वजह से अपने घर से बाहर जाते हैं , लेकिन हम में से बहुत कम लोग ही घर से बाहर निकलने और घर में दाखिल होने की दुआ पढ़ते हैं । जब भी कोई शख्स अपने घर से बाहर निकलता है तो जाते वक्त पहले बायां पैर बाहर निकालना चाहिए (और दुआ पढ़ना चाहिए) ये सुन्नत तरीका है । आज के इस पोस्ट में मैं आप लोगों को Ghar Se Nikalne Ki Dua और Ghar Me Dakhil Hone Ki Dua in Hindi, Arabic और Roman English के बारे में बताने वाला हूं । उम्मीद है कि ये मालूमात आपको पसन्द आएगी ।


जब भी कोई आदमी अपने घर से बाहर निकलता है तो उसे बायां पैर पहले निकालना चाहिए और Ghar Se Bahar Nikalne Ki Dua पढ़ना चाहिए —


Ghar Se Nikalne Ki Dua - घर से बाहर निकलते वक्त की दुआ 

Dua :: बिस्मिल्ला-हि तवक्कलतु अलल्लाहि ला हौ-ल वला क़ुव्व-त इल्ला बिल्लाह !
(तिर्मिज़ी 3426)
तर्जुमा :: अल्लाह के नाम के साथ घर से निकलता हूं , और मैं ने अल्लाह ही पर भरोसा किया और अल्लाह की मदद के बगैर न किसी चीज़ से बचने की ताक़त है न कुछ करने की क़ुव्वत।


Ghar Se Nikalne Ki Dua in Urdu/Arabic 

بِسْمِ اللّٰهِ تَوَكَّلْتُ عَلَى اللّٰهِ لاَ حَوْلَ وَلاَ قُوَّةَ إِلاَّ بِاللّٰهِ

اللّٰہ کے نام کے ساتھ میں نے اللہ پر بھروسہ کیا اور اللہ کی مدد کے بغیر نہ کسی چیز سے بچنے کی طاقت ہے نہ کچھ کرنے کی قوت

Ghar Se Nikalne Ki Dua in Roman English

Dua : Bismillahi Tawakkaltu Alallahi La Haula Wala Quwwata illa Billah
Translation : Allah ke naam ke saath ghar se nikalta hu , aur Allah hi par bharosa kiya aur Allah ki madad ke bagair na kisi cheez se bachne ki taqat hai na kuch karne ki quwwat.


यह भी पढ़ें : Ghusl Karne Ki Niyat Aur Ghusl Karne Ka Tarika in Hindi 

Ghar se Nikalne ki Dua – 2  

Roman English :: Allahumma innee aAAoothu bika an adilla aw odal, aw azilla aw ozall, aw athlima aw othlam, aw ajhala aw yujhala AAalay.

Hindi :: (ऐ अल्लाह! मैं तेरी पनाह मांगता हूं इस बात से कि गुमराह हो जाऊं या मुझे गुमराह किया जाए, मैं फिसल जाऊं या मुझे फिसलाया जाए, मैं किसी पर ज़ुल्म करूं या मुझ पर ज़ुल्म किया जाए या मैं किसी पर जिहालत व नादानी करूं या कोई मुझ पर जिहालत व नादानी करे।)

English :: (O Allah, I take refuge with You lest I should stray or be led astray, or slip or be tripped, or oppress or be oppressed, or behave foolishly or be treated foolishly.)(slip: i.e. to commit a sin unintentionally)


यह भी पढ़ें : Ayatul Kursi in Hindi | Fazilat | PDF Download 

घर से निकलने की दुआ पढ़ने का फ़ायदा :

  • घर से निकलने की दुआ पढ़ने से इंसान को दुनिया और आख़िरत के खास मामलों फ़ायदा होगा।
  • Ghar Se Bahar Nikalne Ki Dua पढ़ने से नबी (स.अ.व) के हुक्म की फर्माबरदारी होगी और उसका सवाब मिलेगा ।
  • इस दुआ को पढ़ने वाला बुराई और बुरी चीज़ से महफूज़ रहेगा।
  • घर से निकलने की दुआ पढ़ने से इंसान को हिदायत मिलेगी। दुआ पढ़ने की बरकत से अल्लाह तआला उस इंसान को दुनिया और आख़िरत के तमाम कामों में हिदायत देगा और उसकी मदद फ़रमाएगा।

हमारे मज़हब में दुआ की बहुत बड़ी फ़ज़ीलत है । इस्लाम में हर काम के आदाब और दुआएं हैं । दुआ पढ़ने से सवाब मिलता है और अल्लाह तआला बुराई से हिफाज़त फ़रमाते हैं। इस दुआ को आप लोग याद कर लें और जब भी घर में आएं या घर से बाहर निकले तो दुआ ज़रूर पढ़ें।


यह भी पढ़ें : Tahajjud Ki Namaz Ka Tarika , Time , Dua & Niyat 


घर में दाख़िल होते वक़्त सलाम करना

हदीस : नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया पहले दुआ पढ़े और फिर अपने घर वालों को सलाम करें। (अबू दावूद 5096)

कुरआन शरीफ़ : जब तुम अपने घरों में जाने लगो तो अपने घर वालों को सलाम कर लिया करो मिलते वक़्त कि अच्छी दुआ है जो बाबरकत और पाक है अल्लाह की तरफ़ से । (सूरह नूर 61)


Ghar Me Dakhil Hone Ki Dua in Urdu

اَللّٰهُمَّ إِنِّيْ أَسْأَلُكَ خَيْرَ الْمَوْلِجِ وَخَيْرَ الْمَخْرَجِ بِسْمِ اللّٰهِ وَلَجْنَا وَبِسْمِ اللّٰهِ خَرَجْنَا وَعَلَى اللّٰهِ رَبِّنَا تَوَكَّلْنَا 
ترجمہ: اے اللّٰہ میں تجھ سے داخل ہوتے وقت اور باہر نکلتے وقت خیر کا سوال کرتا ہوں، ہم 
اللّٰہ کے نام کے ساتھ داخل ہوئے اور اللّٰہ کے نام سے باہر نکلے اور اللّٰہ پر ہمارا بھروسہ ہے

Ghar Me Dakhil Hone Ki Dua in Hindi

Dua : अल्लाहुम्म इन्नी असलु-क खैरल मौलजि व खैरल मख़रजि बिस्मिल्लहि वलजना व बिस्मिल्लहि ख़रजना व अलल्लाहि रब्बिना तवक्कलना ! (अबू दावूद 5096)


Tarjuma : ऐ अल्लाह मैं तुझ से दाख़िल होते वक़्त और बाहर निकलते वक़्त भलाई चाहता हूं, हम अल्लाह के नाम के साथ दाख़िल हुए और अल्लाह के नाम से हम निकले और अल्लाह पर हमारा भरोसा है।


Ghar Me Dakhil Hone Ki Dua in Roman English

Dua : Allahumma innee As-aluka Khairal maulaji Wa Khairal makhraji Bismillahi walajnaa Wa Bismillahi Kharajnaa Wa alallahi rabbinaa tawakkalnaa.

Roman English : Aye Allah me tujh se dakhil hote waqt aur bahar nikalte waqt bhalai chahta hu, Ham Allah ke naam ke sath dakhil hue aur Allah ke naae se ham nikle aur Allah par hamara bharosa hai.


Ghar Me Jate Waqt Allah Ke Naam Ki Fazilat

जाबिर बिन अब्दुल्लाह रज़ियल्लाहु अन्हुमा से रिवायत है, आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया :
जब आदमी अपने घर जाता है घर में जाते वक़्त और खाते वक़्त अल्लाह रब्बुल आलमीन का नाम लेता है तो शैतान (अपने दोस्तों और दूसरे शैतानों से) कहता है न तुम्हारे रहने का ठिकाना है न खाने का ठिकाना है, और जब घर में जाते वक़्त अल्लाह का नाम नहीं लेता तो शैतान कहता है तुम्हें रहने का ठिकाना तो मिल गया और जब खाते वक़्त भी अल्लाह का नाम लेता तो शैतान कहता है तुम्हारे रहने का भी ठिकाना हुवा और खाना भी मिला। (सही मुस्लिम 2018) 


Conclusion

दोस्तों इस पोस्ट में मैंने आप लोगों को Ghar Se Bahar Nikalne Ki Dua और Ghar Me Dakhil Hone Ki Dua in Hindi, Arabic और Roman English के बारे में बताया है । उम्मीद है कि ये मालूमात आपको पसन्द आई होगी । इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें । 

Muhammad Saif

This Article has been written by Muhammad Saif. 🙂

कृप्या स्पैम ना करें। आपके कमेंट्स हमारे द्वारा Review किए जाएंगे । धन्यवाद !

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने