Mere Sahaba Naat Lyrics In Hindi and English

Is post me humne aapke liye mere sahaba manqabat ki lyrics likha Hai. Jise padh kar aapko ise yaad karne me aasani hogi.


Mere Sahaba Naat Lyrics


मेरे सहाबा... प्यारे सहाबा… 2


युं ही तो नहीं लिखा सरदार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को… ( 2 )


फरमाने मुहम्मद और कुरआन में देखा तो… ×2

बतलाया गया फाईज़ हरबार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को


युं ही तो नहीं लिखा सरदार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को… ( 2 )


तारीख़ के पलटे जब औराक हुआ इदराक… ×2

हर दौर ने माना है…हर दौर ने…

हर दौर ने माना है सालार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को


युं ही तो नहीं लिखा सरदार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को… ( 2 )


निकला जो कोई बदबख्त इस्लाम को ढ़ाने पर… ×3

हर जां पे खड़ा देखा कोहसार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को


युं ही तो नहीं लिखा सरदार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को… ( 2 )


उनवान उठाएंगे महफिल में सहाबा का… ×2

यूं अपना बताएंगे…यूं अपना

यूं अपना बताएंगे दिलदार सहाबा को

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को


युं ही तो नहीं लिखा सरदार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को… ( 2 )


यु’सिर का तराना जब कुरआन में गूंजा है… ×3

जचता है यकीनन फिर…जचता है…

जचता है यकीनन फिर इस़ार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को


युं ही तो नहीं लिखा सरदार सहाबा को…

ठहराया रिसालत ने मैय्यार सहाबा को… ( 2 )


[ खत्म ]


दोस्तों उम्मीद है कि ये कलाम और इसके बोल भी आपको पसंद आए होंगे । इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें । और इसी तरह के पोस्ट के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो जरूर करें ।


Mere Sahaba Naat Lyrics in English


My sahaba... dear sahaba... 2


Just didn't write to Sardar Sahaba...

Ordained Risalaat to Maiyar Sahaba… ( 2 )


If you see the sayings in Muhammad and the Qur'an… ×2

It was told every time to Sahaba…

Maiyar Sahaba was appointed by Risalat


Just didn't write to Sardar Sahaba...

Ordained Risalaat to Maiyar Sahaba… ( 2 )


When Auraq happened in reverse of the date… ×2

Every round has accepted…every round has…

Every round has accepted Salar Sahaba…

Maiyar Sahaba was appointed by Risalat


Just didn't write to Sardar Sahaba...

Ordained Risalaat to Maiyar Sahaba… ( 2 )


Whoever turns out to be an idiot for persuading Islam… ×3

I saw Kohsar Sahaba standing on every road…

Maiyar Sahaba was appointed by Risalat


Just didn't write to Sardar Sahaba...

Ordained Risalaat to Maiyar Sahaba… ( 2 )


Unwan will pick up Sahaba's in the Mehfil… ×2

I will tell myself like this…

I will tell my heart like this to Sahab

Maiyar Sahaba was appointed by Risalat


Just didn't write to Sardar Sahaba...

Ordained Risalaat to Maiyar Sahaba… ( 2 )


When the tune of your head is resonated in the Qur'an… ×3

Surely it suits again…

I definitely like Isar Sahaba again…

Maiyar Sahaba was appointed by Risalat


Just didn't write to Sardar Sahaba...

Ordained Risalaat to Maiyar Sahaba… ( 2 )


[finish]


Friends, hope you have liked this Kalam and its Lyrics too. Don't forget to share it with your friends. And do follow us on Facebook and Twitter for more such posts. 

Muhammad Saif

This Article has been written by Muhammad Saif. 🙂

कृप्या स्पैम ना करें। आपके कमेंट्स हमारे द्वारा Review किए जाएंगे । धन्यवाद !

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने