6 Islamic Kalma in Hindi - इस्लामिक कलमा हिन्दी तर्जुमा के साथ

6 Islamic Kalma in Hindi | Kalma hindi mein Tarjuma ke saath

दोस्तों ! आज मैं आपके साथ 6 Kalma of Islam in Hindi (Pahla Kalma Tayyab, Dusra Kalma Shahadat, Tisra Kalma Tamjeed, Chautha Kalma Tauheed, Panchwa Kalma Istigfar, Chatha Kalma Radde Kufr in Hindi) की मालूमात शेयर करने वाला हूं । उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसन्द आएगा । इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें और पसंद आने पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें —


इस्लाम के छह कलमा (पहला कलमा तय्यब, दूसरा कलमा शहादत, तीसरा कलमा तमजीद, चौथा कलमा तौहीद, कलमा पांचवा इस्तिगफार और छठा कलमा रद्दे कुफ्र इन हिन्दी में)


6 Kalma of Islam in Hindi 

दोस्तों ! आगे बढ़ने से पहले आपसे मेरा एक सवाल है । आप सीने पर हाथ रखकर सोचिए : " आपको Islam Ke Kitne Kalima जुबानी याद हैं ?" एक, दो… चार… या फिर पूरे 6 kalima ? हकीकत तो यह है कि इतनी उम्र गुजर जाने के बाद भी हमें ये छोटी छोटी चीजें याद नहीं रहती । बचपन में याद तो करते हैं लेकिन फिर कभी न पढ़ने के वजह से जल्द ही भूल जाते हैं । हमें चाहिए कि हम मुसलमान होने के नाते इन दुआओं और कलिमों को खुद भी याद करें और अपने घर के दूसरे लोगों (खासकर बच्चों) को भी याद करवाएं ।


Six Islamic Kalma In Hindi


1. पहला कलमा तैय्यब (Kalma Tayyab in Hindi)

ला इलाहा इल्लल्लाहू मुहम्मदुर् - रसूलुल्लाह ।

» तर्जुमा : "अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं । और हजरत मुहम्मद मुस्तफा (ﷺ) अल्लाह के रसूल हैं ।"

 

2. दूसरा कलमा शहादत (Kalma Shahadat)

अशहदु अल्ला इलाहा इल्लल्लाहू व अशहदु अन-न मुहम्मदन अब्दुहू व रसूलुह ।

» तर्जुमा : गवाही देता हूं मैं कि अल्लाह तआला के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं , और गवाही देता हूं मैं कि हजरत मुहम्मद मुस्तफा (ﷺ) अल्लाह के बन्दे और उसके रसूल हैं ।


3. तीसरा कलमा तमज़ीद (Kalma Tamjeed)

सुब्हानल्लाहि वल-हम्दु लिल्लाहि वला इलाहा इल्लल्लाहू वल्लाहू अकबर वला हौला वला कुव्व-त इल्ला बिल्लाहिल अलीय्यिल अज़ीम ।

» तर्जुमा : अल्लाह की ज़ात पाक है , और सब तारीफें अल्लाह ही के लिए है और अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं। इबादत के लायक तो सिर्फ अल्लाह है और अल्लाह सबसे बड़ा है और किसी में न तो ताकत है न बल लेकिन ताकत और बल तो अल्लाह ही में है जो बहुत शान वाला और बड़ा है । 


4. चौथा कलमा तौहीद (Kalma Tauheed)

ला इलाहा इल्लल्लाहू वहदहू ला शरीक-लहू लहुल मुल्कू व लहुल हम्दु युहय्यी व युमीतू बियदीहिल खैर । व-हु-व अला कुल्ली शैइन क़दीर ।

» तर्जुमा : अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं , इबादत के लायक वह एक है, उसका कोई साझीदार नहीं और , सबकुछ उसी का है। और सारी तारीफ़ें अल्लाह ही के लिए है। वही मारता और जिलाता है, और वह जिन्दा है, उसे हरगिज़ कभी मौत नहीं आएगी। वह बड़ा ज़लाल और बुजुर्गी वाला है। अल्लाह के हाथ में हर तरह की भलाई है और वो हर चीज़ पर कुदरत रखने वाला है।


5. पांचवा कलमा रद्दे कुफ़्र (Kalma Radde Kufr)

अल्लाहुम्मा इन्नी अऊज़ू बि-क मिन अन उशरिक-बि-क शैअंव वअना आलमु बिही व अस्तग़फिरूक लिमा ला आलमु बिही तुब्तु अन्हु व तबर्रअतु मिनल कुफ्रि वल मआसी कुल्लिहा अस्लमतु व आमन्तु व अकुलू ला इलाहा इल्लल्लाहू मुहम्मदुर रसूलुल्लाह ।

» तर्जुमा : ऐ अल्लाह में तेरी पनाह मांगता हूँ इस बात से के में किसी शय को तेरा शरीक बनाऊं जान बूझ कर , और बख्शिश मांगता हूँ तुझ से उस (शिर्क) की जिसको मैं नहीं जानता और मैंने इससे तौबा की और बेज़ार हुआ कुफ्र से और शिर्क से और झूठ से और ग़ीबत से और बिदअत से और चुगली से और बेहयाओं से और बोहतान से और तमाम गुनाहों से और मैं इस्लाम लाया और में कहता हूँ के अल्लाह तआला के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं और हज़रत मुहम्मद मुस्तफा (ﷺ) अल्लाह के रसूल हैं ।


6. छठा कलमा इस्तिगफार (Istagfar) 

अस्तगफिरुल्लाहि रब्बी मिन कुल्लि ज़म्बि अज-नब-तुहु अमदन अव् खतअन सिर्रन औ अलानियतंव् व अतूवु इलैहि मिनज-जम्बिल-लजी ला आलमु इन्न-क अन्त अल्लामुल गुयूबी व् सत्तारुल उवूबि व् गफ्फा-रुज्जुनुबि वला हौला वला कुव्वता इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अजीम ।

» तर्जुमा : मै अपने परवरदिगार (अल्लाह) से अपने तमाम गुनाहों की माफ़ी मांगता हूँ जो मैंने जान-बूझकर या भूल से किए हैं, छिप कर किए हों या खुल्लम खुल्ला किए हों और तौबा करता हूं मैं उस गुनाह से, जो मैं जनता हूं और उस गुनाह से जो मैं नहीं जानता, या अल्लाह बेशक़ तू गैब की बातें जानने वाला और ऐबों को छिपाने वाला है और गुनाहों को बख्शने वाला है और (हम में) गुनाहों से बचने और नेकी करने की ताक़त नहीं अल्लाह के बगैर जो कि बहुत बुलंद वाला है।


आखिरी बात

दोस्तों ये थी आज की हमारी पोस्ट 6 islamic kalma in Hindi Mein (Pahla Kalma Tayyab, Dusra Kalma Shahadat, Tisra Kalma Tamjeed, Chautha Kalma Tauheed, Panchwa Kalma Istigfar, Chatha Kalma Radde Kufr in Hindi) के बारे में । मुझे उम्मीद है कि आपको ये मालूमात पसन्द आई होगी । इसे अपने तमाम दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें क्योंकि अच्छी बात को दूसरों तक पहुंचाना भी सदका-ए-ज़ारिया है । मैं आपसे फिर मिलूंगा अगली पोस्ट में , तबतक के लिए अल्लाह हाफिज़ ! 

Muhammad Saif is the author and Editor of Aazad Hindi News Website.

एक टिप्पणी भेजें

कृप्या स्पैम ना करें। आपके कमेंट्स हमारे द्वारा Review किए जाएंगे । धन्यावाद !